बारां। बारां जिले में रबी सीजन में गेहूं की बुवाई और सरसों की पहली सिंचाई के समय किसानों को यूरिया की जरूरत पड़ रही है। इस महीने 26500 मेट्रिक टन की मांग के मुकाबले 18 हजार 800 मेट्रिक टन यूरिया सप्लाई हो चुका है। रविवार को 1400 मीट्रिक टन की इफको की रैक पहुंची, जिसका सोमवार को वितरण हुआ। वहीं इफको की 1400 मेट्रिक टन और कृभको की 1900 मेट्रिक टन की रैक लग चुकी है। वहीं इस महीने के लिए दो रैक की डिमांड भेजी गई है।

झालावाड़ एसीबी टीम की बड़ी कार्यवाई:रिश्वतखोर रोजगार सहायक को किया साथ रंगे हाथो ट्रेप,देखिए ।

बारां जिले में घाटी में चलते-चलते नए ट्रैक्टर के हुए 2 टुकड़े, देखकर हो जाएंगे हैरान ।

वहीं कृषि विभाग उपनिदेशक अतीश कुमार शर्मा ने बताया कि जिले के किसानों की मांग अनुसार रबी फसलों के लिए यूरिया उर्वरक मिल रहा है। जिले को अक्टूबर में 20 हजार मेट्रिक टन यूरिया प्राप्त हुआ। वहीं नवंबर में 26 हजार 500 मीट्रिक टन के मुकाबले 18 हजार 800 मीट्रिक टन का वितरण हो चुका है। वहीं रविवार को इफको की 1400 मीट्रिक टन की रैक बारां पहुंची है। सोमवार को इफको की 1400 मीट्रिक टन और कृभको की 1900 मीट्रिक टन की रैक लग चुकी है। यह यूरिया भी जल्द बारां पहुंच जाएगा। इसके अलावा दो रैक की डिमांड भेज रखी है। दिसंबर के लिए 25 हजार मीट्रिक टन की डिमांड भेजी है। कृषि विभाग वितरण पर निगरानी बनाए हुए है। यूरिया की अनावश्यक भंडारण नहीं करें।

 

आज और कल यहां मिलेगा यूरिया

कलेक्टर नरेंद्र गुप्ता ने बताया कि ग्राम सेवा सहकारी समिति, पलायथा, बालदड़ा, जयनगर, ईश्वरपुरा, मिर्जापुर, पलायथा, सोरसन, शाहपुरा, भटवाड़ा, रायथल, तिसाया, टिकरिया, बोहत, पाटूंदा, बमोरीकला, बड़वा, खजूरनाकलां, बामला, मंडोला, माथना, मियाडा कोयला, संबलपुर, बडोरा, दीगोदखालसा, अजनावर, बमोरी कलां छीपाबडौद, सेतकोलू, कटावर, खरखडा रामलोथान, मोठपुर, चरडाना, करजूना, मूंडला बिसोती, सकतपुर, भैसडा,सहरोद, एवं क्रय विक्रय सहकारी समिति बारां, छबड़ा, छीपाबड़ौद, अटरू, अंता, सीसवाली, मांगरोल, केलवाडा, लेम्पस किशनगंज, केलवाड़ा, खुशियारा, खंडेला, बांसथूनी, भंवरगढ़, जलवाड़ा, पीपल्दाकलां, सुभाषघट्टी आदि स्थानों पर कृषि विभाग के कार्मिकों की निगरानी में यूरिया का वितरण किया जाएगा।

 

किसान अपने नजदीकी सहकारी समिति से करें यूरिया की खरीद

कृषि विभाग उपनिदेशक अतिश कुमार शर्मा ने किसानों से अपील की है कि वह अपने निकटतम सहकारी समिति से ही यूरिया क्रय की खरीद करें। इस दौरान स्वयं का आधार कार्ड, जमीन का रिकार्ड नकल, खसरा गिरदावरी आदि साथ में लेकर आए। वर्तमान जरूरत के अनुसार यूरिया खरीदें, अनावश्यक भंडारण नहीं करें। इफको व कृभको की रेक भी जिले को मिल चुकी है। यह मंगलवार को आवंटित स्थानों पर पहुंच जाएगी। इसके अलावा चंबल फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स गढ़ेपान कोटा से भी प्रतिदिन सड़क माध्यम से यूरिया जिले को प्राप्त हो रहा है। जिसका वितरण निजी क्षेत्र के डीलरों की ओर से जिले के किसानों को किया जा रहा है।

जानिए आपका आज का राशिफल , कैसा रहेगा आपका दिन ?