छात्र-छात्राओं ने थाने का किया विजिट सीआई ने थाने की कार्यशैली और आपराधिक धाराओं की दी जानकारी

 

रामगंजमंडी शहर में इंडियन रिचुवल सीनियर सेकेंडरी स्कूल के छात्र -छात्राओं ने थाना रामगंजमंडी का विजिट किया। विजिट पर आए छात्रों को थाने में पहुंचने पर थाने का वातावरण और पुलिस कार्यशैली को जानने की उत्सुकता थी। जिसके बाद सीआई मनोज कुमार ने छात्र – छात्राओं को थाने की व्यवस्थाएं, पुलिस कार्यशैली, रिपोर्ट प्रक्रिया, मुकदमा, कंप्यूटर कक्ष, मालखाना, रिकॉर्ड रूम, हवालत, हेल्प डेस्क और पुलिस की रसोई का भ्रमण करवाया।

साथ ही छात्रों के सवालों के सीआई ने संतुष्ट पूर्वक जवाब दिए। वहीं विजिट में छात्राओं को पुलिस ने दो भागों में विभाजित किया। जिसमे पहले सेक्शन में छात्राओं को थाने का विजिट करवाया। तो वही दूसरी पारी में छात्रों को थाने की कार्यशैली से रूबरू करवाया गया। जिसमे सीआई ने थाने की हर व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी।

 

जिसको लेकर छात्रों में भी उत्साह दिखाई दिया। वहीं आपराधिक धाराओं की जानकारी और अन्य मामलों के सवालों के पर जानकारी ली गई।

छात्र निकुंज ने बताया स्कूल की ओर से विजिट करने आए, तो सीआई मनोज कुमार और कांस्टेबल का फ्रेंडली व्यवहार रहा। सीआई ने थाने की हर एक्टिविटी के बारे में बताया हम भी जानना चाहते थे की रिपोर्ट कैसे दर्ज होती है। कार्रवाई कैसे होती है। सीआई ने सभी प्रक्रिया को विस्तार से बताया। सबसे पहले थाने में तैनात ड्यूटी ऑफिसर से मिलवाया। जो फरियादियों की रिपोर्ट लिखते और कार्रवाई को अमल में लेते है। स्कूल प्राचार्य विनोद गौत्तम ने बताया की बच्चो को थाने की बारीकी से बारिकी व्यवस्थाओं के बारे में सीआई ने खुद भ्रमण कर बताया। जिसमे बच्चो को कंप्यूटर कक्ष में ऑनलाइन एफआईआर, एफआर की जानकारी दी। वहीं सीआई रूम का भी विजिट हुआ। थाने का रिकॉर्ड रूम में अपराधियों के रिकॉर्ड के बारे में जानकारी दी। जिसके बाद हवालात के बारे में बताया की 24 घंटे तक किसी भी मामले में आपराधिक को रख सकते है। जिसके बाद उसे कोर्ट में पेश करना पड़ता है। सीआई ने आपराधिक धाराओं जैसे 107/151, 376, 307, 302 और 364 की जानकारी और कार्रवाई की प्रक्रिया बताई।परिसर में हेल्प डेस्क की व्यवस्था है। जिसमें पुलिस आमजन की समस्याओं का समाधान करती है।