पुजारी परिवार को जलाकर मारने की कोशिश, देवगढ़ थाना प्रभारी और कामलीघाट चौकी प्रभारी निलम्बित, देखीए।

देवगढ़. राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित एक पेट्रोल पंप के सामने मंदिर की जमीन के विवाद में रविवार रात पुजारी और उसकी पत्नी को जिन्दा जलाने की कोशिश के मामले में लापरवाही बरतने पर पुलिस महानिरीक्षक, उदयपुर रेंज प्रफुल्ल कुमार ने देवगढ़ थाना प्रभारी शैतान सिंह व कामलीघाट चौकी प्रभारी राजू सिंह को निलम्बित कर दिया है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवलाल बैरवा ने बताया कि वारदात के मुख्य षड्यंत्रकर्ता नरेन्द्र सिंह, विजयपुर सरपंच पति हरदेव भाट तथा एक अन्य आरोपी भंवरसिंह उर्फ दिनेश को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने 11 और आरोपियों को डिटेन किया है। इसके अलावा वारदात में शामिल एक अन्य आरोपी जीतू उर्फ जीतेन्द्र सिंह को हैदराबाद के गंटूर से दस्तियाब किया है।खाना खा रहा था पुजारी परिवार पुजारी के पुत्र मुकेश प्रजापत ने बताया कि उनका परिवार खाना खा रहा था। करीब 10 बदमाश आए थे। पट्रोल बम फेंकने से पुजारी नवरत्नलाल ( 75) पुत्र रंगलाल प्रजापत एवं उनकी पत्नी जमना देवी (60) निवासी हीरा की बस्सी के कपड़ों ने आग पकड़ ली। दोनों बुरी तरह झुलस गए। मुकेश ने पानी डालकर आग बुझाई। बताया कि विवाद को लेकर पूर्व में उन्होंने कामलीघाट चौकी पर रिपोर्ट भी दी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।