कोटा । बोरखेड़ा पुलिस ने शराब के नशे में एक महिला के घर में घुसने के मामले में मंगलवार रात को किशोरपुरा थाने के एएसआई मेघराज को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया, जहां बुधवार को कोर्ट ने उसकी जमानत अर्जी मंजूर कर ली है। एएसआई को जमानत पर रिहा कर दिया गया है। एएसआई के खिलाफ केस दर्ज होने से लेकर उसके गिरफ्तार होने तक की पूरी कहानी काफी दिलचस्प है।

पुलिस के अधिकारिक सूत्रों के अनुसार किशोरपुरा थाने का एएसआई मेघराज प्रताप नगर कॉलोनी में रहता है। उसी कॉलोनी के एक मकान में एक महिला अकेली रहती है। शनिवार रात को मेघराज ने शराब अधिक मात्रा में पी ली। वो शराब पीकर रात करीब 1.30 बजे नशे में घुत्त होकर महिला के मकान में घुस गया। महिला ने शोर सुना तो देखा और उसने एएसआई को चोर समझकर हल्ला किया। एएसआई वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। जिसकी रिकॉर्डिंग लेकर महिला रविवार को बोरखेड़ा थाने गई। जहां उसने कहा कि उक्त बदमाश चोरी का प्रयास करने उसके घर में घुसा था। चूंकी सीसीटीवी में शक्ल साफ नहीं थी तो बोरखेड़ा पुलिस एएसआई को नहीं पहचान पाई। पुलिस ने अज्ञात बदमाश के नाम से केस दर्ज कर लिया और कैमरा फुटेज के माध्सम से तलाश शुरू की गई। जिसके आधार पर एएसआई को गिरफ्तार किया गया। बोरखेड़ा सीआई बाबूलाल का कहना है कि पुलिस ने पूरी पारदर्शिता से काम किया। एएसआई ने गलत किया तो उसे भी गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने मुकदमा अज्ञात के खिलाफ दर्ज किया है। यानी बोरखेड़ा पुलिस को पहले युवक के विषय में पता नहीं था कि यह कौन है इसका क्या मकसद था। इसका सबूत बोरखेड़ा पुलिस द्वारा करवाई गई क्यूएसटी है। पुलिस ने शहर के सभी थानों में क्यूएसटी करवाई, जिसमें युवक का हुलिया और घटना के प्रयोग ली गई सेंट्रो कार का फोटो आया। जिससे क्लियर हो गया कि यह कार को एएसआई मेघराज की है और हुलिया भी किशोरपुरा थाने के एएसआई मेघराज से मिल रहा है। मुकदमा पहले से दर्ज था और पुलिस बेड़े और अधिकारियों के सामने इसका पूरा खुलासा हो चुका था, ऐसे में एएसआई मेघराज को गिरफ्तार करना पुलिस की मजबूरी बन गय।

 

दोस्त के जन्मदिन से लौटकर आ रहा था एएसआई

 

एएसआई के वकील मोहनलाल मालव ने बताया कि पूरे घटनाक्रम में मेघराज की नीयत गलत नहीं थी। वो शनिवार को थाने से ड्यूटी खत्म करके निकला और दोस्त के बेटे की बर्थडे पार्टी में चला गया। वहां उसने दोस्तों के साथ शराब पी ली और रात को 1.30 बजे घर गया। उसने घर के सामने कार खड़ी की, लेकिन नशे में उसने घर के सामने वाली लाइन के मकान में घुसकर घंटी बजा दी। जब उसे गलती का एहसास हुआ तो वो वापस चला गया।