2222 जोड़ो का ब्याह करा रहे गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया। (2222 couple marriage)

आशीर्वाद देने पहुंचे मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ।

लंदन से पहुंची Guinness World Records की टीम।

बारां। बारा में आज श्री महावीर गौशाला कल्याण संस्थान बारां की ओर से सर्वधर्म सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है, जिसमे लाखो की संख्या में लोग पहुंचे हुए है ।

हम आपको बता दें कि बारां में शुक्रवार को बड़ा कीर्तिमान स्थापित हुआ है। खनन मंत्री प्रमोद जैन भाया की अगुवाई में यहां वर्ल्ड रिकॉर्ड वाली शादी (सामूहिक विवाह) के हजारों लोग गवाह बने हैं। बारां NH 27 के पास इस सर्वधर्म निशुल्क सामूहिक विवाह सम्मेलन में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी पहुंचे हैं। एक साथ 2222 वर-वधु यहां हमसफर बने हैं। इनमें से 2111 हिंदू जोड़ों ने फेरे लिए हैं और 111 जोड़ों ने मुस्लिम निकाह पढ़ा है।

वरमाला कार्यक्रम में सीएम अशोक गहलोत, प्रभारी राजस्थान कांग्रेस प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा, राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी, पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा भी शामिल हुए। वर वधु को आशीर्वाद देने ये सभी नेता हेलीकॉप्टर से बारां पहुंचे। हजारों की तादाद में हाड़ौती समेत राजस्थान भर से अन्य राज्यों से दूल्हा-दुल्हन के जोड़े और उनके मेहमान सम्मेलन में पहुंचे हैं। ऐसे में सड़के जाम है।

इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में कई कीर्तिमान स्थापित हुए हैं। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में इन रिकॉर्ड्स को दर्ज करने के लिए लंदन से गिनीज बुक की टीम भी सम्मेलन में पहुंची है। खनन एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम की जिम्मेदारी श्री महावीर गौशाला कल्याण संस्थान उठा रही है। समारोह में आने वाले लोगों के लिए सुबह 10 से भोजन चल रहा हैं। मंत्री प्रमोद जैन भाया का कहना है कि इसमें हिंदू और मुस्लिम समाज के जोड़े शामिल हैं। हिंदू समाज की सभी जाति के लोग इसमें शामिल हैं। यह सामाजिक समरसता का भी उदाहरण बनने जा रहा हैं।

सम्मेलन में हजारों मेहमान पहुंचे हैं। इस को लेकर भारी सुरक्षा व्यवस्था भी रखी गई है। किसी भी तरह की अनहोनी नहीं हो, इसके लिए एहतियात बरती जा रही हैं। बड़ी संख्या में प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड तैनात किए गए हैं।

2000 से ज्यादा पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। पुलिस के आला अधिकारी भी इस पूरे आयोजन की मॉनिटरिंग में जुटे हैं। 2222 जोड़ों का निशुल्क विवाह सम्मेलन करीब 2000 बीघा जमीन में आयोजित हो रहा है ।

 

(रिपोर्ट : क्रिश जायसवाल)