11 मई के बाद नही होगी कॉल रिकॉर्ड

आपको बता दे की अब गूगल कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स पर शिकंजा कसने की तैयारी में है. ग़ौरतलब है कि गूगल ने Android 10 के साथ डिफ़ॉल्ट कॉल रिकॉर्डिंग फ़ीचर बंद कर दिया था. हालाँकि दूसरी कंपनियाँ अपने एंड्रॉयड बेस्ड कस्टम ओेएस में अब भी कॉल रिकॉर्डिंग फ़ीचर्स देती हैं.

11 मई से गूगल नई गूगल प्ले पॉलिसी इंप्लिमेंट कर रही है जो थर्ड पार्टी ऐप्स को कॉल रिकॉर्डिंग ऐक्सेसिब्लिटी API यूज करने से रोकेगा. यानी पॉलिसी लागू होने के बाद से थर्ड पार्टी ऐप्स से कॉल रिकॉर्डिंग नहीं की जा सकेगी.

हालाँकि जिन एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स में पहले से ही कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स हैं और उन्हें परमिशन मिली हुई है तो उन्हें इस पॉलिसी से फ़र्क़ नहीं पड़ेगा. उन ऐप्स के ज़रिए आगे भी कॉल रिकॉर्डिंग की जा सकेगी, लेकिन नए ऐप इंस्टॉल करके उनसे कॉल रिकॉर्ड नहीं किया जा सकेगा.