छबडा विधायक व पूर्व मंत्री प्रतापसिंह सिंघवी आज ग्राम पंचायत खोपर के ग्राम बालापुरा पंहुचने पर अपार जन समूह के साथ गावं वालो ने विधायक सिंघवी का भव्य स्वागत किया। खोपर ग्राम पंचायत के विकास कार्य के लिए विधायक सिंघवी ने 5 लाख रूपये, छबडा पंचायत समिति प्रधान ने 10 लाख की घोषणा की तथा विधायक सिंघवी ने टांचा गोशाला के विकास के लिए विधायक कोष से 5 लाख की घोषणा की। इस अवसर पर विधायक सिंघवी के साथ छबडा प्रधान हरिओम नागर, छीपाबडौद प्रधान नरेश मीणा, सरपंच मंजू नागर, छीपाबडौद मण्डल अध्यक्ष मुरारीलाल नागर, पूर्व उपप्रधान जगन्नाथ, धाकड समाज अध्यक्ष रामेश्वर नागर, पूर्व सरपंच राजेन्द्र गालव, जानकीलाल नागर, जगदीश काल्याखेडी, महामंत्री द्वारकालाल गालव, मुरारी पटेल, हरिओम नागर खोपर, श्रीकिशन मीणा, दीपक मेहता, रामकल्याण मीणा, सरपंच प्रतिनिधि धन्नालाल नागर, कन्हैयालाल गोस्वामी, बलराम नागर काल्याखेडी, प्रकाशचन्द नागर पीपल्या, कन्हैयालाल मीणा, मांगीलाल सुमन, दुर्गाप्रसाद नागर खोपर, आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

 

 

बाजार हस्तक्षेप योजना लागू हो- सिंघवी

छबडा विधायक व पूर्व मंत्री प्रतापसिंह सिंघवी ने बताया कि संपूर्ण हाडौती मे लहसन का उत्पादन किसानो द्वारा अत्यधिक मात्रा मे किया जाता है और इस वर्ष और अधिक रकबे मे लहसन की बुवाई की थी लेकिन बाजार भाव काफी कम होने से किसान काफी निराश और चिंतित है। सिंघवी ने राज्य सरकार से लहसन के गिरते हुए दामो को देखते हुए मांग की है कि भारतीय जनता पार्टी की राजस्थान की पूर्व सरकार द्वारा जिस प्रकार बाजार हस्तक्षेप योजना के अन्तर्गत किसानो की फसल की वास्तविक लागत मूल्य पर सरकारी खरीद चालू की थी उसी प्रकार राज्य की वर्तमान सरकार भी किसानो की लहसन की फसल की खरीद चालू करे जिससे किसानो को अपनी फसल का भाव मिल सके और खरीफ की फसल के नुकसान से पीडित किसानो को आर्थिक संबंल प्राप्त हो सके।