बोहत गावं मे नरेगा महिला श्रमिकों के साथ सरपंच बाबूलाल चंदेल द्वारा  अशोभनीय अभद्रता से पेश आने से नाराज होकर महिलाओ ने संरपच  आवास के सामने नारेबाजी कर जाम लगा दिया जिसकी वजह से वाहनो की लम्बी कतारे लग गई।  नरेगा महिला श्रमिक बसंती बाई,रामकन्या राखी मोहनी आदि ने  बताया कि ग्राम पंचायत द्वारा जारी 6 मस्टरोल पर 250श्रमिक भंवरलाल कोली के खेत मे भैरूजी तलाई खुदाई पर कार्य कर रहे थे ग्राम पंचायत सरपंच कार्य स्थल पर पहुँचे तो महिला श्रमिकों ने कार्य की मजदूरी कम मिलने की शिकायत की तो सरपंच महिलाओ से अशोभनीय अभद्रता से पेश आने पर सभी मजदूर कार्य स्थल से नाराज होकर बांरा मांगरोल सडक मार्ग पर पहुंच कर सरपंच के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सडक मार्ग पर तपती गर्मी मे सडक मार्ग पर बैठ गई सडक मार्ग पर लगे वाहनो के चक्का जाम की सुचना पर मांगरोल थानाधिकारी रामस्वरूप मीणा पुलिस जाप्ते के साथ पहुँच कर महिलाओ से समझाइश कि बाद में मांगरोल तहसीलदार रश्मि शर्मा ने महिलाओ से समझाइश कि लेकिन उपस्थित महिलाए जाम स्थल पर सरपंच को बुलाकर माफी मांगने पर अड गई। लेकिन अपने स्थल से टस से मस नहीं हुई। बाद में उपखण्ड अधिकारी शञुध्न सिह गुर्जर ने महिला श्रमिकों को पूरा भरोसा दिलाया कि आगे से नरेगा मजदूरी पूरी दिलाने तथा सात दिन में सरपंच द्वारा अशोभनीय अभद्रता व्यवहार के खिलाफ भी कार्यवाही करने का भरोसा दिलाने के बाद ही महिलाएँ सडक मार्ग से हटने को राजी हुई  करीब  दो घंटे से अधिक समय से वाहनो का चक्का जाम लगने के बाद खुलासा हो पाया। वाहनो के सडक़ मार्ग पर जाम लगने से सडक मार्ग पर दोनो साइड में वाहनो की लम्बी कतार लग गई।