Spread the love

बारां, 28 अप्रैल। नहर लाओ जीवन बचाओ यात्रा बारां जिले में पहुंचने पर जगह-जगह स्वागत किया गया। पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने की मांग को लेर 13 जिलों के 3 करोड लोगों के बीच में जाकर लोगों को जागरूक करना है। इस परियोजना से 5 लाख हैक्टेयर भूमि को सिंचाई के लिए पीने के लिए पानी उपलब्ध हो सकेगा। इसके लिए भारतीय किसान यूनियन युवा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम सिंह मीणा के नेतृत्व में प्रधानमंत्री के नाम एडीएम को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि पूर्वी राजस्थान की भूमि अगर यह परियोजना लागू होती है तो 13 जिलों की भूमि बंजर होने से बच जाएगी और जमीनी स्तर पानी का लेवल बढ जाएगा। इन 13 जिलों की 5 लाख हैक्टेयर भूमि सिंचिंत होने से किसान भाईयों की जमीनी पैदावर अच्छी होगी। जिससे आमदनी बढेगी और कर्ज में किसान नहीं डूबेगा। अगर यह सरकार हमारी मांग को पूरी नहीं करती है तो आने वाली 18 मई को राजभवन का घेराव करेंगे। ज्ञापन देने वालों में भारतीय यूनियर टिकेट युवा प्रदेशाध्यक्ष विक्रम सिंह मीणा, रतन खोखर प्रदेश मंत्री, बलवंत सिंह मीणा जिलाध्यक्ष बारां, गुरकीरत सिंह खालसा जिलाध्यक्ष युवा बारां, प्रेम मीणा सोडाना, उपाध्यक्ष अंशदीप सिंह फौजी, महासचिव कमल बैरवा, सोनू बिन्द्रा, हरमन सिंह, विक्रमजीत सिंह, आदित्य शर्मा, शिवराज मीणा रारोती, मुकुट मीणा, रामबाबू शर्मा दौसा, संतोष मीणा, रामेश्वर गुर्जर, छात्रसंघ अध्यक्ष प्यारेलाल मीणा टोंक, पूर्व सरपंच टोड भीम, मदनमोहन राजोर, प्रदेश महासचिव युवा विजय माली आदि शामिल रहे।