Spread the love

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का दिया संदेश ।

 

पत्नी भी घोड़े पर सवार होकर चल पड़ी पति के साथ

निकासी में दुल्हन भी सज-धजकर घोड़े पर हुई सवार

छबड़ा में वर वधू की निकली एक साथ शानो शौकत के साथ बंदोरी

 

छबड़ा कस्बे में गुरुवार शाम को निकली दूल्हा-दूल्हन की निकासी के वीडियो फोटो तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हो रहे हैं । क्योकि यह निकासी दूल्हे की नही बल्कि दूल्हा-दुल्हन दोनों की एक साथ थी। निकासी में दुल्हन भी सज-धजकर घोड़े पर सवार थी।

मेहमान व परिजन इस अनोखी निकासी का आनंद लेकर साथ चल रहे थे वहीं महिलाएं भी नाच गाकर निकासी की शोभा बढ़ा रही थी। चंद्रशेखर कॉलोनी निवासी गोविंद जांगिड़ की पुत्री कामेक्षा का विवाह कस्बे के धननगर में रहने वाले सुनील जांगिड़ के साथ हुआ हैं। गुरूवार शाम को दूल्हे की निकासी का कार्यक्रम था, परंतु इस कार्यक्रम में दुल्हन कामेक्षा भी सज-धजकर घोड़े पर सवार हो अपने होने वाले पति के साथ चल पड़ी। इस अवसर पर दूल्हे के दोस्तो ने भी पूरे जोश के साथ नाच-गाने में भाग लिया।

शिक्षक गोविंद जांगिड़ ने बताया कि उनके कोई पुत्र नही हैं। चार पुत्रियां हैं। उन्होंने इन सभी की परवरिश पुत्रों की तरह की हैं। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश आमजन को देने के उद्देश्य से उन्होंने अपनी पुत्री की निकासी घोड़े पर निकाली।