बारां, 30 अप्रेल। राजस्थान शिक्षक संघ राधाकृष्णन के प्रदेशाध्यक्ष विजय सोनी ने कहा कि शिक्षक सदैव समाज का आदर्श रहे हैं। शिक्षक सभ्य और सुसंस्कृत समाज के निर्माता है, लिहाजा शिक्षक का समाज में विशिष्ट और आदर्श स्थान रहा है, लेकिन सरकारों की नीतियों में कारण अब शिक्षक अपने मूल कर्त्तव्य से दूर हो रहे हैं। ऐसे में शिक्षकों की गरिमा भी इससे प्रभावित हो रही है। शिक्षक संघ राधाकृष्णन ने इसके लिए आग्रह अभियान के माध्यम से शिक्षकों को गैरशैक्षणिक कामों से दूर रखने की मुहिम छेड़ी है।
प्रदेशाध्यक्ष सोनी ने यह बात शनिवार को सार्वजनिक संस्था धर्मादा धर्मशाला के हॉल में आयोजित शिक्षक संघ राधाकृष्णन एवं शिक्षिका सेना की जिला व ब्लॉक कार्यकारिणी के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को अध्यापन कार्य से दूर करना भावी पीढ़ी के भविष्य से खिलवाड़ हैं। शिक्षा के अधिकार अधिनियम के प्रावधानों के बावजूद शिक्षको को अध्यापन के से हटा कर अन्य कामों में नियोजित कर दिया जाता है। शिक्षक वर्ग के हितों के लिए संघ हमेशा संघर्षरत रहा है। आग्रह अभियान में प्रतिदिन जनजागरण किया जा रहा है, शिक्षकों को शैक्षणिक कार्य से जोड़े रखने के लिए पुरजोर आग्रह किया जा रहा है। जिला प्रवक्ता प्रद्युम्न गौतम ने बताया कि समारोह को शिक्षिका सेना की प्रदेश संयोजिका सुनीता भाटी, सभाध्यक्ष नारायण सिंह पवार, महामंत्री अमिताभ सनाढ्य, उपाध्यक्ष हरिओम शर्मा, सह प्रवक्ता सुरेश फुलवारी ने भी विचार व्यक्त किए। जिलाध्यक्ष अनूप चोपड़ा, जिला संयोजिका रेखा सक्सेना ने अतिथियों का स्वागत किया। इस दौरान संभाग अध्यक्ष राजकुमार राय, संजय गर्ग, मधुबाला जैन, कौशल विजय, मनोज जैन ने शपथ ग्रहण में सहयोग दिया। प्रदेशाध्यक्ष सोनी ने सभी नवगठित कार्यकरिणी के पदाधिकारियों का अभिनन्दन कर मनोनयन पत्र प्रदान किए। समारोह में संरक्षक महावीर गौतम, अनिल गौतम, महामंत्री त्रिवेणी प्रसाद मीणा, विजेंद्र सिंह, कौशल तिवारी, हिम्मत सिंह गौड़, कल्पेश मीना, तरूण मित्तल, धर्मेंद्र मेघवाल, राजू शर्मा,रामस्वरूप, रवि शर्मा, ज्योतिप्रकाश शर्मा, पीयूष गुप्ता, पवन गौतम, योगेश सोनी, हरीश नामा, निशा  शर्मा, सविता गर्ग, मनोरमा राठौर, शिखा शर्मा, मीना नागर, प्रतिमा शर्मा, प्रियंका ढाका सहित बड़ी संख्या में शिक्षक मौजूद थे।