प्रेस विज्ञप्ति दिनांक-01.05.2022

सादर प्रकाशनार्थ

 

कोविड-19 से मृतक व्यक्तियो के परिजनो को अब नही होना पडेगा परेशान

 

छबडा विधायक व पूर्व मंत्री प्रतापसिंह सिंघवी ने दिनांक 30.03.2022 को मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर राजस्थान के कोविड मरीज जिनकी मृत्यु प्रदेश से बाहर के राज्यो मे हो गई थी जिनके मृत्यु प्रमाण पत्र प्रदेश के बाहर के अस्पतालो द्वारा मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिया था। जिनको 50000 की आर्थिक सहायता के लिए ई मित्र पोर्टल पर आवेदन स्वीकार नही हो रहे थे अब वह आफलाईन आवेदन जिला कलक्टर के माध्यम से राज्य सरकार को करकर राज्य सरकार से 50000 रूपये की आर्थिक सहायता प्राप्त कर सकते है। निदेशालय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा द्वारा इस संबंध मे 25.04.2022 को प्रदेश के सभी जिला कलक्टर को एक कमेटी गठित कर आफलाईन आवेदन स्वीकार करने के निर्देश प्रदान कर दिये। इसी प्रकार कोविड-19 के मरीज के परिजनो को पहले मरीज के मृत्यु प्रमाण पत्र लेने के लिये जिला चिकित्सा अधिकारी कार्यालय मे जाना पडता था विधायक सिंघवी द्वारा जिला कलक्टर बारां को लिखे पत्र के बाद जिला कलक्टर द्वारा जिला चिकित्सा कार्यालय के स्थान पर जिले के सभी उपखण्ड चिकित्सा अधिकारी कार्यालयो पर ही कोविड-19 के मृतक के परिजनो को मृत्यु प्रमाण पत्र उपलब्ध करायेगा चिकित्सा विभाग। जिससे अब कोविड-19 के मृतक व्यक्ति के परिजन को इधर उधर नही भटकना पडेगां तथा ना ही आर्थिक नुकसान का सामना करना पडेगा।

 

 

उपेक्षा के शिकार जिला के जनप्रतिनिधि

 

विधायक सिंघवी द्वारा आरोप लगाया कि जिले के अधिकारीयो द्वारा नही दिया जा रहा है जनप्रतिनिधियो एवं अधिकारीयो के आवेदनो पर ध्यान। छबडा महिला बाल विकास विभाग मे मिटिंग हाॅल एवं शोचालय निर्माण करवाने के संबंध मे सिंघवी द्वारा दिनांक 04.09.2021, 08.04.2022, 10.11.2021 को जिला कलक्टर को पत्र लिखकर अवगत कराया गया था। छबडा तहसील मे 228 आंगनबाडी केन्द्रो पर करीब 500 महिला कर्मचारी कार्यरत है। कार्यालय पर महिला कर्मचारीयो की मूलभूत सुविधा शोचालय की व्यवस्था नही होने के कारण इन सभी महिला कर्मचारीयो को काफी परेशानियो का सामना करना पडता है। इस संबंध मे जिला कलक्टर द्वारा दिनांक 10.11.2021 को पत्र क्रमांक 14565, के माध्यम से उप निदेशक महिला एवं बाल विकास विभाग बारां को निर्देशित कर सीएसआर के अन्तर्गत कार्य कराये जाने हेतु प्रस्ताव मय लागत सहित तैयार कराकर जिला कलक्टर कार्यालय भेजने हेतु निर्देशित किया था परन्तु उप निदेशक कार्यालय बारां की उदासीनता के चलते आज दिनांक तक इस संबंध मे किसी भी प्रकार की पत्रावली महिला बाल विकास विभाग द्वारा नही भेजी गई है। विधायक सिंघवी ने जिला कलकटर से मांग की है कि उपयुक्त कार्य मे दोषी व्यक्तियो के खिलाफ उचित कार्यवाही की जाये एवं महिला बाल विकास विभाग छबडा मे कार्यरत महिला कर्मचारीयो की मूलभूत सुविधाओ को ध्यान मे रखते हुए ये कार्य अतिशीघ्र कराया जाये अन्यथा दिनांक 15 मई 2022 को समस्त आंगनबाडी कार्यकर्ता एवं आमजन को साथ लेकर मेरे नेतृत्व मे उपखण्ड कार्यालय छबडा पर धरना प्रदर्शन किया जायेगा जिसकी समस्त जवाबदारी जिला प्रशासन की होगी।