Spread the love

आंबेडकर जयंती: आगरा में निकाली जाएगी भव्य शोभायात्रा, झांकियों में दिखेगी ‘महंगाई डायन’, भीमनगरी भी सजी

आगरा में संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर की जयंती पर गुरुवार को चक्कीपाट, काजीपाड़ा से शोभायात्रा निकाली जाएगी, जो पुराने शहर के रास्तों से होकर शुक्रवार सुबह नगला पद्मा, ग्वालियर रोड पहुंचेगी। इस शोभायात्रा में 60 से ज्यादा झांकियां शामिल होंगी। नाला काजीपाड़ा के साथ चक्कीपाट से शोभायात्रा में दो हाथी शामिल होंगे, जिन पर बाबा साहब की प्रतिमा शोभायात्रा का आकर्षण का केंद्र होगी। 

 

झांकियों में इस बार रूस-यूक्रेन युद्ध और महंगाई जैसे विषय शामिल किए गए हैं। आयोजन समिति ने शाम पांच बजे तक चिम्मन चौराहे पर झांकियों को लाने की अपील की है। भीमनगरी आयोजन समिति के संरक्षक करतार सिंह भारतीय ने बताया कि चक्कीपाट स्थित होटल शिव कंचन पर शाम 5:30 बजे पूर्व मंत्री डॉ. जीएस धर्मेश हाथी को रवाना करेंगे। उन्होंने सामाजिक संदेश देने वाली झांकियां शामिल करने की अपील की है।

झांकियों में दिखेगा दबंग, महंगाई का दानव

शोभायात्रा को लेकर नगला छऊआ में झांकियों को तैयार किया जा रहा है। कारीगरों ने बुधवार को इन्हें अंतिम रूप दिया। झांकियों में महंगाई छाई रहेगी। इनमें पानी, दूध, तेल, सब्जी, आटा, दाल की महंगाई के साथ रूस यूक्रेन युद्ध तथा इंग्लैंड के प्रधानमंत्री को दबंग की तरह पेश किया गया है। इसी तरह रूसी और यूक्रेन के राष्ट्रपति की तस्वीरें इस संदेश के साथ दिखाई गई है कि भारत युद्ध की नहीं, बल्कि बुद्ध की धरती है।

40 कारीगरों ने दिया भीमनगरी मंच को आकार

नगला पदमा में सजाई जा रही भीमनगरी के मंच को अंतिम रूप दे दिया गया है। इसे बौद्ध वास्तुकला के अनुरूप तैयार किया गया। इस मंच को 40 कारीगरों ने दिन रात की मेहनत कर तैयार किया है। मंच पर बाबा साहब डॉ. आंबेडकर के चित्र होंगे। कमेटी के श्याम जरारी ने बताया कि मंच पर 300 लोग बैठ सकते हैं, जबकि सामने 4000 कुर्सियां लगाई गई हैं। बुधवार शाम को केंद्रीय कमेटी के करतार सिंह भारतीय, धर्मेंद्र सोनी, राजू पंडित, आशीष प्रिंस, गजेंद्र पिपल ने मंच की व्यवस्थाएं देखीं। 

शोभायात्रा में मेधावियों को करेंगे सम्मानित

भीम युवा व्यापार मंडल द्वारा आंबेडकर शोभायात्रा का स्वागत मीरा हुसैनी चौराहे हींग की मंडी पर किया जाएगा। इसमें मेधावी छात्र छात्राओं को सम्मानित करने के साथ झांकियों को भी पुरस्कृत किया जाएगा। बुधवार को 20 नए सदस्यों को संगठन से जोड़ा गया और उन्हें बाबा साहब द्वारा लिखित पुस्तक दी गई। इस दौरान पंकज मुकेश, प्रदीप पिपल, विकास कुमार, महेंद्र सिंह, यशपाल, सतीश सागर, शेखर पिपल, अमीर सिंह, रवि सागर, मुकेश बाबू आदि मौजूद रहे।