आगरा: प्राथमिक विद्यालय में आग लगी या लगाई गई? जल गया पूरा रिकॉर्ड, टूटा मिला प्रधानाध्यापक कक्ष का ताला

आगरा के कागारौल थाना क्षेत्र के गांव नगला भुजा स्थित परिषदीय प्राथमिक विद्यालय में रविवार रात प्रधानाध्यापक कक्ष में आग लग गई। कक्ष में रखा विद्यालय से संबंधित नामांकन रजिस्टर, एसआर रजिस्टर, प्रधानाध्यापक, शिक्षकों और विद्यार्थियों का उपस्थिति रजिस्टर, मिड-डे मील, पत्र व्यवहार, चेक बुक आदि रिकॉर्ड जल गया। कागारौल थाने में प्रधानाध्यापक अजय सिंह की ओर से तहरीर दी गई है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी सतीश कुमार भी सूचना मिलने के बाद सोमवार की सुबह विद्यालय पहुंचे। उन्होंने बताया कि प्रधानाध्यापक कक्ष का ताला टूटा हुआ था। कक्ष पूरी तरह से जल गया है। इसमें रखी अलमारी भी राख हो गई है। प्रथम दृष्टया लग रहा है कि किसी ने जानबूझकर प्रधानाध्यापक कक्ष में आग लगाई है। पुलिस इसकी जांच करेगी। बेसिक शिक्षा अधिकारी की ओर से भी तीन सदस्यीय जांच समिति बनाई जा रही है, यह मामले की जांच करेगी। समिति ऑनलाइन पोर्टल पर उपलब्ध विद्यालय के रिकार्ड को सत्यापित भी करेगी। अकोला के खंड शिक्षा अधिकारी अमरेश कुमार पोर्टल से विद्यालय का रिकॉर्ड जुटाने का काम करेंगे।

गांव वालों ने अग्निशमन विभाग को दी थी सूचना

बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि गांव वालों ने विद्यालय में आग लगने की सूचना अग्निशमन विभाग को दी। फायर ब्रिगेड ने मौके पर पहुंच पर आग बुझाई। तब तक कक्ष में रखा सारा सामान व रिकार्ड जल चुका था।

पूर्व में तैनात शिक्षिका की तैनाती की मांग करते हैं गांव वाले

बेसिक शिक्षा अधिकारी सतीश कुमार का कहना है कि विद्यालय की कोई जांच नहीं चल रही थी। दो वर्ष पहले विद्यालय बंद था, इसमें शिक्षिका रजनी चौधरी को संबद्ध कर दिया गया था। उनकी पढ़ाई और मेहनत से गांव वाले और विद्यार्थी बेहद खुश थे। विद्यालय में और शिक्षकों की तैनाती के बाद रजनी चौधरी को यहां से कार्य मुक्त कर दिया गया। गांव वाले व विद्यार्थी खंड शिक्षा अधिकारी व बेसिक शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखकर लगातार रजनी चौधरी को विद्यालय में संबद्ध करने की मांग कर रहे हैं।