आगरा: कलेक्ट्रेट के अधिवक्ताओं ने शुरू की अनिश्चतकालीन हड़ताल, जानें क्या है मांग

आगरा में सदर तहसील एसडीएम की कोर्ट की शिफ्टिंग के विरोध में कलेक्ट्रेट में वकील सोमवार से बेमियादी हड़ताल पर चले गए हैं। इस दौरान दिनभर कामकाज ठप रहा। कलेक्ट्रेट बार ने शिफ्टिंग पर आपत्ति जताते हुए एडीएम सिटी को ज्ञापन सौंपा। एडीएम ने जिलाधिकारी से वार्ता के बाद मांग पर विचार करने का आश्वासन दिया है।

एसडीएम सदर की कोर्ट चार दिन कलेक्ट्रेट में लगती हैं, जबकि दो दिन सदर तहसील में। 2018 में भी कोर्ट की शिफ्टिंग को लेकर कलेक्ट्रेट और तहसील के वकील आमने-सामने आए थे। तब तत्कालीन डीएम एनजी रवि कुमार ने यह व्यवस्था बनाई थी। कलेक्ट्रेट बार एसोसिएशन अध्यक्ष बृजेंद्र रावत का कहना है कि पिछले दिनों की छुट्टियों में प्रशासन ने शिफ्टिंग का आदेश किया है। इससे कलेक्ट्रेट के राजस्व अधिवक्ताओं में रोष है।

एडीएम सिटी ने दिया आश्वासन

महासचिव लोकेंद्र शर्मा ने कहा कि पूर्व की भांति व्यवस्था बनाए रखने की मांग एडीएम सिटी अंजनी कुमार से की गई है। एडीएम सिटी ने डीएम से विचार विमर्श का आश्वासन दिया है। सोमवार को कलेक्ट्रेट में राजस्व अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रहे। अध्यक्ष बृजेंद्र रावत का कहना है कि शिफ्टिंग का आदेश वापस नहीं होने तक अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी।

ज्ञापन देने वालों में ये रहे मौजूद

ज्ञापन देने वालों में सुरेंद्र शर्मा, श्रीकृष्ण शुक्ला, बलवीर सिंह, सुरेंद्र सिंह, वेदप्रकाश, रविकांत गुप्ता, राजेश शर्मा, हरीमोहन गौतम, चंद्र प्रकाश रावत, संजय पचौरी, धर्मवीर तोमर, गजेंद्र यादव, अशोक त्यागी, ओम प्रकाश सिंह आदि अधिवक्ता मौजूद रहे।